Santosh Anand hindi Songs with lyrics | santosh anand lyrics |santosh anand songs lyrics

 

गीतकार संतोष आनंद ने हिंदी सिनेमा को ‘एक प्यार का नग़्मा है’ जैसे सुपरहिट गीत दिए हैं। साथ ही वर्ष 1974 में फिल्म रोटी, कपड़ा और मकान के लिए कई गीत लिखे थे। इस फिल्म के गीत ‘मैं ना भूलूंगा’ के लिए इन्हें अपने करियर का पहला फिल्म फेयर अवार्ड भी मिला था। साल 1981 में इन्होंने क्रांति फिल्म के गीत लिखे थे जो कि उस वर्ष की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म थी। इसी साल इन्होंने फिल्म प्यासा सावन के लिए गीत ‘तेरा साथ है तो’ और ‘मेघा रे मेघा’ लिखा जिसके बाद इन्हें प्रेम रोग फिल्म के गीत के लिए फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया। संतोष आनंद ने कुल 26 फिल्मों में 109 गाने लिखे हैं।

आज हम आपके लिए लाए हैं संतोष आनंद के 5 मशहूर गाने (Santosh Anand Songs) जो हैं सदाबहार. Santosh anand ke sadanahar songs Santosh Anand hindi Songs with lyrics

Santosh Anand hindi Songs with lyrics-santosh anand lyrics
Santosh Anand hindi Songs with lyrics-santosh anand lyrics

एक प्यार का नगमा है मौजों की रवानी है

फ़िल्म: शोर (1972)
संगीत: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
गायक: लता मंगेशकर, मुकेश

एक प्यार का नगमा है मौजों की रवानी है
ज़िंदगी और कुछ भी नहीं तेरी मेरी कहानी है

कुछ पाकर खोना है, कुछ खोकर पाना है
जीवन का मतलब तो, आना और जाना है
दो पल के जीवन से, इक उम्र चुरानी है

तू धार है नदिया की, मैं तेरा किनारा हूँ
तू मेरा सहारा है, मैं तेरा सहारा हूँ
आँखों में समंदर है, आशाओं का पानी है

 

मैं ना भूलूंगा, मैं ना भूलूंगी

फ़िल्म: रोटी कपड़ा और मकान (1974)
संगीत: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
गायक: मुकेश, लता मंगेशकर

मैं ना भूलूंगा, मैं ना भूलूंगी
इन रस्मों को, इन कसमों को
इन रिश्ते नातों को

चलो जग को भूले, ख़यालों में झूले
बहारों में डोले, सितारों को छू ले
आ तेरी मैं माँग सवारूँ , तू दुल्हन बन जा
माँग से जो दुल्हन का रिश्ता, मैं ना भूलूंगी

समय की धारा में, उमर बह जानी है
जो घड़ी जी लेंगे, वही रह जानी है
मैं बन जाऊँ साँस आखिरी, तू जीवन बन जा
जीवन से साँसों का रिश्ता, मैं ना भूलूंगी

मेघा रे मेघा रे, मत परदेस जा रे

फ़िल्म: प्यासा सावन  (1981)
संगीत: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
गायक: लता मंगेशकर, सुरेश वाडेकर

मेघा रे मेघा रे, मत परदेस जा रे
आज तू प्रेम का संदेस बरसा रे

कहाँ से तू आया, कहाँ जायेगा तू
कि दिल की अगन से, पिघल जायेगा तू
धुआं बन गयी है ख्यालों की महफ़िल
मेरे प्यार की जाने, कहाँ होगी मंज़िल
मेघा रे मेघा रे
मेरे गम की, तू दवा रे

बरसने लगीं हैं बूँदें, तरसने लगा है मन
ज़रा कोई बिजली चमकी, नरजने लगा है मन
और ना डरा तू  मुझको, ओ काले काले घन
मेरे तन को छू  रही है, प्रीत की पहली की पवन
मेघा रे मेघा रे
मेरी सुन ले तू सदा रे

ज़िन्दगी की ना टूटे लड़ी

फ़िल्म: क्रांति (1981)
संगीत: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
गायक: लता मंगेशकर, नितिन मुकेश

ज़िन्दगी की ना टूटे लड़ी
प्यार कर ले घड़ी दो घड़ी
लम्बी-लम्बी उमरिया को छोड़ो
प्यार की इक घड़ी है बड़ी
प्यार कर ले घड़ी दो घड़ी

उन आँखों का हँसना भी क्या
जिन आँखों में पानी न हो
वो जवानी, जवानी नहीं
जिसकी कोई कहानी न हो
आँसू हैं ख़ुशी की लड़ी

ये गलियाँ ये चौबारा, यहाँ आना न दोबारा

फ़िल्म: प्रेम रोग (1982)
सगीत: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
गायक: लता मंगेशकर

ये गलियाँ ये चौबारा, यहाँ आना न दोबारा
अब हम तो भए परदेसी, के तेरा यहाँ कोई नहीं
ले जा रँग-बिरंगी यादें, हँसने रोने की बुनियादें

मेरे हाथों में भरी-भरी चूड़ियाँ, मुझे भा गई हरी हरी चूड़ियाँ
देख मिलती हैं तेरी-मेरी चूड़ियाँ, तेरे जैसी सहेली मेरी चूड़ियाँ
तूने पीसी वो मेहँदी रँग लाई, मेरी गोरी हथेली रचाई
तेरी आँख क्यों लाडो भर आई, तेरे घर भी बजेगी शहनाई
सावन में बादल से कहना, परदेस में मेरी बहना

https://www.youtube.com/watch?v=hUde7UxFkAc

 

 

Q. santosh anand lyrics -santosh anand songs lyrics hindi top 5

-एक प्यार का नगमा है मौजों की रवानी है
-मैं ना भूलूंगा, मैं ना भूलूंगी
-मेघा रे मेघा रे, मत परदेस जा रे
-ज़िन्दगी की ना टूटे लड़ी
-ये गलियाँ ये चौबारा, यहाँ आना न दोबारा

2 thoughts on “‘एक प्यार का नगमा’ लिखने वाले संतोष आनंद संतोष आनंद के सुनें ये 5 सदाबहार गाने”
  1. santosh anand ke songs ko mai bahut dino se internet par search kar raha tha. aapke dwara santosh anand ke songs pr banaya gaya ye article bahut hi shandar hai.
    santosh anand ek mahan geet kar hai. Hindi sinema me unka yogdan atulniye hai.

Leave a Reply