Santosh Anand Biography In Hindi | Santosh Anand Life Story | Santosh Anand Family, Age, Song लिस्ट  गीतकार संतोष आनंद की जीवनी

Contents hide

 

गीतकार संतोष आनंद की जीवनी (जन्म, करियर, परिवार) और फिल्मे | Lyricist Santosh Anand Biography (Birth, Career, Family) and Films in Hindi

Santosh Anand Biography in hindi -Santosh Anand life story-The legend Santosh Anand living legend of India.
Santosh Anand Biography in hindi

Santosh Anand life story- santosh anand wikipedia in hindi

गुजरे जमाने के मशहूर गीतकार संतोष आनंद (शब्दों के जादूगर)ने अपने समय में कई बॉलीवुड फिल्मों में बढ़िया गीत लिखा है, आज हर कोई भूल चुका है. संतोष आनंद ने अपने बॉलीवुड करियर में एक से बढ कर एक बेहतरीन फिल्मों में गीत लिखा था. उनके संगीत से कई फिल्में सजी. 81 साल के शब्दों के जादूगर संतोष आनंद ने मोहब्बत है क्या चीज, इक प्यार का नगमा है, मेघा रे मेघा रे मत जा तू परदेश, जिंदगी की ना टूटे लड़ी प्यर कर ले घड़ी दो घड़ी जैसे बढ़िया गाने बॉलीवुड दिए हैं. आज संतोष काफी बुजुर्ग हो चुके हैं, लेकिन उनके द्वारा दिए गए गाने आज भी फैंस के जुवान पर हैं.

युपि  के सिकंदराबाद में जन्मे संतोष आनंद (Santosh Anand) ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से लाइब्रेरी साइंस की पढ़ाई की थी. शुरुआत के दिनों में संतोष आनंद (Santosh Anand) ने दिल्ली में बतौर लाइब्रेरियन काम किया. संतोष जी को बचपन से ही कविताओं का बड़ा शौक था, वह दिल्ली में होने वाले कवि सम्मेलनों में हिस्सा लेते थे

 [the_ad id=”879″]

यह भी पढें

21 साल बाद भारतको मिस यूनिवर्स का खिताब जिताने बालि Harnaaz Kaur Sandhu जीवन परिचय

संतोष आनंद संतोष आनंद के सुनें ये 5 सदाबहार गाने

Kaun hai santosh anand? Who is Santosh Anand?Santosh Anand Biography in hindi

KeyInformation
नाम (Name)संतोष आनंद
जन्म (Birth)5 मार्च 1940
जन्म स्थान (Birth Place)सिकंदराबाद
कार्यक्षेत्र (Profession)गीतकार
पुत्र (Son)संकल्प आनंद
सम्मान (Awards)फिल्मफेयर पुरस्कार और यश भारती

शादी के 10 साल बाद मिला था बेटा

बताया जाता है कि संतोष और उनकी पत्नी को शादी के दस साल बाद बेटा हुआ था, जिसका नाम उन्होंने संकल्प रखा था. संकल्प, गृह मंत्रालय में IAS अधिकारियों को सोशियोलॉजी और क्रिमिनोलाॅजी पढ़ाते थे. वे काफी समय से मानसिक रूप से परेशान थे. संकल्प आत्महत्या से पहले 10 पेज का सुसाइड नोट भी लिखा था, जिसमें होम डिपार्टमेंट के कई सीनियर अधिकारी और डीआईजी का नाम शामिल था. संकल्प ने आरोप लगाया था कि करोड़ों के फंड में गड़बड़ी के चलते इन अधिकारियों ने उन्हें सुसाइड के लिए मजबूर किया था.

संतोष आनंद का करियर (Santosh Anand Career)

संतोष आनंद (Santosh Anand) का जन्म उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के सिकंदराबाद में हुआ था. संतोष आनंद ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से लाइब्रेरी साइंस की पढ़ाई की, फिर दिल्ली में लाइब्रेरियन के तौर पर काम शुरू कर दिया था

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत फिल्म पूरब और पश्चिम से की थी. जबकि अपना पहला गाना ‘एक प्यार का नगमा है’ लिखा था, गाना उन्होंने 1972 में आई फिल्म शोर के लिए पेश किया था. इस गाने को मुकेश और लता मंगेशकर ने गाया था और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी ने इसे कंपोज किया था.

इस फिल्म के गीत “मैं ना भूलूंगा” के लिए इन्हें अपने करियर का पहला फिल्म फेयर अवार्ड मिला था.

वर्ष 1981 में इन्होने क्रांति फिल्म के गीत लिखे थे. यह फिल्म उस वर्ष की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म थी. इसी साल इन्होने फिल्म प्यासा सावन के लिए गीत “तेरा साथ हैं तो” और “मेघा रे मेघा” लिखा था. जिसके बाद इन्हें प्रेम रोग फिल्म के गीत के लिए फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया. संतोष आनंद ने  26 Bollywood  फिल्मों में 109 गाने लिखे हैं. इनके गीतों को लता मंगेशकर, महेंद्र कपूर, मोहम्मद अजीज, कुमार शानू और कविता कृष्णमूर्ति जैसे प्लेबैक सिंगर्स ने आवाज दी हैं. शोमैन राजकपूर और अभिनेता मनोज कुमार की अनेक फिल्मों में इन्होने गाने लिखे.

 

पुत्र के पैदा होने के साथ ही मिला था अवार्ड

मथुरा। मशहूर गीतकार संतोष आनंद को वर्ष 1975 में चार अप्रैल को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई थी। उसी दौरान उन्हें रोटी कपड़ा और मकान फिल्म में गीत लिखने के लिए भी अवार्ड मिला था।

 

संतोष आनंद को प्राप्त अवार्ड (Santosh Anand Awards)

  • यश भारती 2016
  • फिल्मफेयर पुरस्कार (1974) फिल्म- रोटी कपडा और मकान, गीत का नाम- मैं ना भूलूँगा
  • फिल्मफेयर अवॉर्ड (1983) फिल्म- प्रेम रोग, गीत नाम- मुहब्बत है क्या चीज

प्रसिद्ध रचनाएं santosh anand best songs

ये हैं प्रसिद्ध गीतकार संतोष आनंद के लिखे बेहतरीन नग़्मे

  • मुहब्बत है क्या चीज
  • इक प्यार का नगमा है।….
  • जिंदगी की ना टूटे लड़ी ….
  • मारा ठुमका बदल गई चाल मितवा ….
  • मेधा रे मेधा रे मत जा तू परदेश (प्यासा सवान)
  • मैं न भूलूंगा,इन रश्मो इन कश्मो को (रोटी कपड़ा और मकान)
  • ओ रब्बा कोई तो बताए (संगीत)
  • आप चाहें तो हमको (संगीत )
  • जिनका घर हो अयोध्या जैसा (बड़े घर की बेटी)
  • दिल दीवाने का ढोला (तहलका)
  • जिंदगी की ना टूटे लड़ी( क्रांति)
  • चना जोर गरम….(क्रांति)
  • ये शान तिरंगा (तिरंगा)
  • पीले पीले ओ मोरी…
  • मैंने तुमसे प्यार किया …(सूर्या)

जैसे भावुक कर देने वाले गीत लिखने वाले संतोष आनंद जी को पूरा भारतीय समाज कभी नहीं भूल सकता। उनके अनमोल योगदान को बॉलीवूड को भी कभी नहीं भूलना चाहिए।

प्रसिद्ध फ़िल्मों santosh anand best film

संतोष आनंद फिल्म इंडस्ट्री के सबसे चहेते प्रसिद्ध गीतकार रहें हैं। इन्होंने कई फ़िल्मों में गीतों की रचना की।।

https://www.youtube.com/watch?v=LGLhTGpZjTQ

(1) पूरब और पश्चिम (1971)

(2) शोर (1972)

(3) रोटी कपड़ा और मकान (1974)

(4) पत्थर से टक्कर (1980)

(5) क़्रांति (1981)

(6) प्यासा सवान (1981)

(7) प्रेम रोग (1982)

(8) गोपीचंद सावन (1982)

(9) जख़्मी शेर (1984)

(10) मेरा ज़बाब (1985)

(11) पत्थर दिल (1985)

(12) लव 86 (1986)

(13) मज़लूम (1986)

(14) बड़े घर की बेटी (1989)

(15) नाग नागिन (1989)

(16) सूर्या (1989)

(17) दो मतवाले (1991)

(18) नागमणि (1991)

(19) रणभूमि (1991)

(20) जूनुन (1992)

(21) संगीत (1992)

(22) तिरंगा (1993)

(23) संगम हो के रहेगा (1994)

(24) प्रेम अगन (1998)

बेटे ने कहा अलविदा

कहा जाता है कि संतोष और उनकी पत्नी को शादी के दस साल बाद बेटा हुआ था, जिसका नाम उन्होंने संकल्प रखा था. संकल्प, गृह मंत्रालय में आईएएस अधिकारियों को सोशियोलॉजी और क्रिमिनोलॉजी पढ़ाते थे. लेकिन एक वक्त ऐसा आया है कि उनका बेटा मानसिक रूप से परेशान रहने लगा और ऐसे में संकल्प ने आत्महत्या से पहले 10 पेज का सुसाइड नोट भी लिखा था.

 

Santosh anand  Appeared On ‘Indian Idol 12’

Santosh anand  Appeared On 'Indian Idol 12'-living legend of India.
Santosh anand  Appeared On ‘Indian Idol 12’

वयोवृद्ध गीतकार संतोष आनंद ने हाल ही में इंडियन आइडल 12 के नवीनतम एपिसोड में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, जिसमें अतिथि कलाकार संगीत कलाकार प्यारेलाल, प्रतिष्ठित लक्ष्मीकांत-प्यारेरेल की जोड़ी का एक आधा हिस्सा भी थे। उसी पर उनकी उपस्थिति के बाद से, लोगों को उत्सुक हो गया है कि संतोष आनंद कौन है और संतोष आनंद की उम्र क्या है। इंडियन आइडल 12 के नवीनतम एपिसोड के प्रसारण के बाद दर्शकों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न हैं

नेहा कक्कड़ ने दी 5 लाख की आर्थिक सहायता
 

विशाल डडलानी और हिमेश रेशमिया के साथ इंडियन आइडल 12 में जज के रूप में नजर आने वाली नेहा कक्कड़ ने संतोष आनंद को आर्थिक मदद की पेशकश की है। शो में संतोष ने अपनी वित्तीय स्थिति के बारे में बात की और बताया कि कैसे वह पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। यह सुनकर नेहा भावुक हो गईं और उन्होंने कहा कि वो 5 लाख रुपये की मदद करना चाहती हैं। इतना ही नहीं नेहा कक्कड़ ने पूरी म्यूजिक इंडस्ट्री सहित अन्य लोगों से भी अपील करते हुए कहा कि वो आगे आएं और संतोष आनंद की आर्थिक रूप से मदद करें।

अपनी पोती के साथ रहते हैं

 

संतोष आनंद इसके बाद एपिसोड का एक वीडियो शेयर करते हुए, उन्होंने लिखा कि संतोष आनंदजी अभी भी अपनी पोती के साथ रहते हैं। वास्तव में एक बहुत ही मर्मस्पर्शी कहानी है, जैसे उन्होंने “एक प्यार का नगमा है” लिखा था। जिसे इंडियन आइडल पर देखा गया। संतोषजी हमारी यादें और दिल में बसते हैं। वह प्रेरित करता है कि ये जीवन के लिए बहुत मायने रखता है।

The legend Santosh Anand living legend of India.

FAQs About Santosh Anand

 

Santosh anand kaun hai

गुजरे जमाने के मशहूर गीतकार संतोष आनंद एक प्रतिष्ठित और सज्जन कलाकार, आज हर कोई भूल चुका है. संतोष आनंद ने अपने करियर में एक से बढ कर एक बेहतरीन फिल्मों में संगीत दिया था. उनके संगीत से कई फिल्में सजी. 81 साल के संतोष आनंद ने मोहब्बत है क्या चीज, इक प्यार का नगमा है, मेघा रे मेघा रे मत जा तू परदेश, जिंदगी की ना टूटे लड़ी प्यर कर ले घड़ी दो घड़ी जैसे बढ़िया गाने हमें दिए हैं

संतोष आनंद जन्म कब हुवा?

संतोष आनंद का जन्म 5 मार्च 1940 को सिकंदराबाद में हुआ

संतोष आनंद की पहलि गीत कौन है

अपना पहला गाना ‘एक प्यार का नगमा है’ लिखा था, गाना उन्होंने 1972 में आई फिल्म शोर के लिए पेश किया था. इस गाने को मुकेश और लता मंगेशकर ने गाया था और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी ने इसे कंपोज किया था.

कौन सी गीत के लिये फिल्म फेयर अवार्ड मिला था?

मैं ना भूलूंगा” के लिए इन्हें अपने करियर का पहला फिल्म फेयर अवार्ड मिला था.

संतोष आनंद को किस फिल्म के लिये अवार्ड मिला है?

यश भारती 2016
फिल्मफेयर पुरस्कार (1974) फिल्म- रोटी कपडा और मकान, गीत का नाम- मैं ना भूलूँगा
फिल्मफेयर अवॉर्ड (1983) फिल्म- प्रेम रोग, गीत नाम- मुहब्बत है क्या चीज

santosh anand famous songs

मुहब्बत है क्या चीज
इक प्यार का नगमा है।….
जिंदगी की ना टूटे लड़ी ….
मारा ठुमका बदल गई चाल मितवा ….
मेधा रे मेधा रे मत जा तू परदेश (प्यासा सवान)
मैं न भूलूंगा,इन रश्मो इन कश्मो को (रोटी कपड़ा और मकान)
ओ रब्बा कोई तो बताए (संगीत)
आप चाहें तो हमको (संगीत )

3 thoughts on “Santosh Anand Biography In Hindi | संतोष आनंद का जीवन परिचय | Santosh Anand Family, Age, Song”
  1. Santosh Anand ji ke bare me detail jankari dene ke liye dhayavad.
    santosh anand ki biography ke bare me aapke dwara di gayi information bahut hi shandar hai.

Leave a Reply