Spread the love
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

corona ka naya strain kya hai in hindi | corona ka naya strain ke lakshan | कितना खतरनाक है कोरोना का नया स्ट्रेन

corona ka naya strain kya hai in hindi

corona ka naya strain kya hai in hindi
corona ka naya strain kya hai in hindi

कोरोना का ये नया वायरस दिसंबर 2020 में यूके में पाया गया है जिसे वैज्ञानिकों ने VUI-202012/01 नाम दिया है और इसे पहला “वेरिएंट अंडर इन्वेस्टिगेशन” कहा जा रहा है. जैसा कि वैरिएंट के बारे में अधिक जानकारी के लिए वैज्ञानिक खोज कर रहे हैं कि क्या इसका म्यूटेशन खतरनाक है

delhi govt e pass :ई-पास ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

SARS-CoV-2 यानी कोरोना वायरस, प्रोटीन अमीनो एसिड्स के खास सीक्वेंस से बनते हैं. जैसे ही इस सीक्वेंस में बदलाव होता है, वायरस के आकार और व्यवहार में बदलाव हो जाता है. साथ ही में इंसानों को इंफेक्ट करने वाले स्पाइक प्रोटीन का व्यवहार भी बदल जाता है. ऐसे में नए स्ट्रेन में वायरस का व्यवहार बदल गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्रिटेन में जो वायरस मिला है, वह पहले के मुकाबले लगभग 70 फीसदी अधिक तेजी से फैल सकता है लेकिन अभी भी कई अनुत्तरित प्रश्न हैं जो वायरस के बारे में जानने के लिए जरूरी हैं. ये नया रूप बहुत तेजी से बढ़ रहा है

 

दरअसल, कोरोना वायरस के व्यवहार में बदलाव से इसकी पहचान करना मुश्किल हो सकता है. कहा जा रहा है कि अमीनो एसिड्स के डिलीट होने या बदलने से कुछ RT-PCR टेस्ट की परफॉर्मेंस प्रभावित हो सकती है. हालांकि, इस बात का दावा नहीं किया जा सकता है.

  • साइंटिस्ट का मानना है कि वायरस की नई किस्म में कम से कम 17 महत्वपूर्ण बदलाव हैं। सबसे महत्वपूर्ण बदलाव स्पाइक प्रोटीन में आया है।
  •  वायरस के इस प्रकार (स्ट्रेन) को वीयूआई-202012/01 पहचान दी गई है। यह तेजी से महामारी फैला रहा है।
  •  सबसे पहले चीन के वुहान में जो कोरोना वायरस मिले थे, वो अभी दुनिया में मिल रहे वायरस से अलग है।

ककरोना का नया  स्ट्रेन  कहां- कहां मिला है kaha kaha mila hai ye naya corona ka strain 
अभी तक चार ऐसे देश हैं, जहां नए स्ट्रेन का खतरा देखा जा रहा है. इसमें ब्रिटेन (N501Y), फ्रांस- दक्षिण अफ्रीका (HV 69/70) और नाइजीरिया (P681H) शामिल हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन सभी वायरस में अमीनो एसिड्स में बदलाव हुआ है

कोरोना के पुराने और नए स्ट्रेन में क्या फर्क है? corona naya strain or purana strai me pharak kya hai

दोनों स्ट्रेन एक ही वायरस के दो रूप हैं, फर्क सिर्फ वायरस में मौजूद प्रोटीन का है वायरस इंसानी कोशिका से प्रोटीन के सहारे जुड़ जाता है पुराने और नए स्ट्रेन में इसी प्रोटीन के आकार प्रकार में बदलाव है नए स्ट्रेन में यह प्रोटीन ज्यादा आसानी से इंसानी कोशिका से जुड़ जाता है और यही वजह है कि तेजी से फ़ैल रहा है।

corona ka naya strain ke lakshan  corona new strain symptoms in hindi(Covid-19 New Strain Symptoms)

– बुख़ार

– मांसपेशियों में दर्द

– सूखी और लगातार खांसी होना

– स्वाद और सुगंध का महसूस न होना

लेकिन कई मरीज़ इन लक्षणों को महसूस नहीं भी कर सकते हैं, और उनमें इस तरह के अन्य लक्षण भी देखे जा सकते हैं:

– कनजंक्टीवाइटिस

– गला ख़राब होना

– सिर दर्द

– चकत्ते

– पेट में दर्द

– हाथों और पैरों की उंगलियों के रंग का बदल जाना

नए स्ट्रेन के लक्षण क्या हैं और ये पुराने स्ट्रेन से कितने अलग हैं

‘इस नए म्यूटेटेड स्ट्रेन के लक्षण लगभग पुराने लक्षण (बुखार, सूखी खांसी, गले में खराश, स्वाद और गंध न पता चलना, आदि) जैसे ही हैं, लेकिन इसमें बुखार ज्यादा तेज आता है और खांसी भी बढ़ कर आती है यानी मरीज ज्यादा खांसता रहता है। इसके अलावा स्वाद और गंध न पता चलने की समस्या भी अधिक तीव्रता के साथ नजर आई है

नए कोरोना  स्ट्रेन के बीच खान-पान किस तरह का होना चाहिए?

oily चीजें जितनी कम खाएं, उतना ज्यादा बेहतर है। हर आधे घंटे के बाद थोड़ा-थोड़ा गर्म पानी पीते रहें। मक्खन, मलाई, घी, बटन चिकन, बटन दाल, आदि कम खाएं। सब्जियों में तड़का कम लगाएं, उबली हुई सब्जियां ज्यादा खाएं, हरी सब्जियां ज्यादा खाएं, फलों को अच्छे से धोकर खाएं। ये आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा।

 

नए स्ट्रेन पर मौजूदा वैक्सीन काम करेगी या नहीं? kya corona naya strain ko vaccine kam karegi?

जिनको पहले कोरोना हो चुका था, वह भी इस नए म्यूटेटेड स्ट्रेन के कारण दोबारा से संक्रमित हो रहे हैं। पहले बनी एंटीबॉडी इसपर काम नहीं करेंगी। चूंकि यह वायरस का म्यूटेटेड स्ट्रेन है, इसलिए इसपर मौजूदा वैक्सीन भी ज्यादा कारगर सिद्ध नहीं हो रही है। हालांकि अच्छी बात ये है कि जो हमने वैक्सीन तैयार की है, उसे इस म्यूटेटेड स्ट्रेन के खिलाफ भी अलग से बनाया जा सकता है।’

कोरोना कितना खतरनाक है  kitna khatarnak hai ye corona ka naya strain

के दोनों स्ट्रेन इसलिए खतरनाक हैं क्योंकि वो फेफड़ों पर असर डाल रहे हैं जिससे सांस लेने में तकलीफ बढ़ती है। और अगर यह ज्यादा बढे तो शरीर के दूसरे सिस्टम पर असर पड़ता है और उससे complications यानी मुश्किलें बढ़ती हैं।

मास्क जरूर लगाए और  सोसल डिस्टन्सिंग (Social Distancing ) रखें !!

सरकार ने जो भी तरीके बताएं हैं उनका जरूर पालन करें, जैसे मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग

इसके अलावा यदि आप कोरोना से संक्रमित हैं तो घर पर ही रहें, अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें। प्रोटीन और अन्य पौष्टिक आहारों का सेवन थोड़ी-थोड़ी देर पर करते रहें।

coronavirus new strain update in india today hindi

देश में कोरोना का नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 2.95 लाख से अधिक नए केस, 2023 लोगों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 95 हजार 41 नए केस सामने आए हैं और 2 हजार 23 लोगों की मौत हुई है. देश में कुल मामलों की संख्या 1,56,16,130 हो गई है, जिसमें से 182,553 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. इस समय देश में एक्टिव केस की संख्या 21,57,538 है और अब तक 1,32,76,039 लोग रिकवर कर चुके हैं.

 

 

Note: सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं